डायन एक अंधविश्वास प्रश्न उत्तर class 8th

आज के इस पोस्ट पर हम डायन एक अंधविश्वास के प्रश्न उत्तर को जानने वाले हैं तो चलिए शुरु करते हैं

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

डायन एक अंधविश्वास

अभ्यास प्रश्न

1. किन कारणों से बच्चे बूढ़ी औरत से डरने लगे और वह भीख माँगने लगी ? लिखें। 

उत्तर- बूढ़ी औरत बाँसों के झुरमुट बीच रहती थी। वह विधवा थी। वह निपूती थी। उसका शरीर दुर्बल और कमर झुकी हुई थी। बाल पके एवं दाँत टूट गए थे। उसका शरीर कंकाल का ढाँचा मात्र दिखता था। उसका ऐसा रूप देखकर बच्चे डर जाते थे।

 

2. गाँव के लोग अकेली औरत को डायन कहकर उसके साथ कैसा व्यवहार करते थे ? 

उत्तर- गाँव के लोग अकेली औरत को डायन कहकर उसके साथ गलत व्यवहार करते थे। उसे निर्वस्त्र कर देते थे। उसके बाल मूँड़कर गाँव में घुमाया जाता था। कभी-कभी उसे आग में जिन्दा ही जला दिया जाता था ।

3. पाठ के आधार पर बताइए कि समाज से डायन कुप्रथा को कैसे दूर किया जा सकता है ? 

उत्तर- से डायन कुप्रथा को सख्त कानून का पालन कर दूर किया जा सकता है। इस प्रथा के पक्षधरों को कानून कठोरतम दंड दे ताकि कोई इसकी पुनरावृत्ति न कर पाए। अंधविश्वासों पर न हम विश्वास करें, न माने, न फैलाएँ। हर औरत को मान एवं सम्मान प्रदान करने से ही इस प्रथा से निजात संभव है। समाज को भी स्त्रियों के प्रति सोच को परिष्कृत करने की जरूरत है।

पाठ से आगे :

1. आपने अपने बड़े-बूढ़ों द्वारा कोई ऐसी कहानी जरूर सुनी होगी जिसमें किसी महिला या बालिका ने कठिन परिस्थितियों पर विजय प्राप्त की हो। उस कहानी को लिखकर कक्षा सुनाइए । 

उत्तर- हमारे गाँव में एक गरीब किसान था। उसकी मौत हो गई। उसकी पत्नी ने मजदूरी कर अपने बच्चे को पढ़ाया लिखाया। उसकी एक मात्र पढ़ लिखकर बी०डी०ओ० बन गई। आज उस लड़की की समाज में बड़ी इज्जत है। वह गरीबों की मदद करने को सैदव तत्पर रहती है। 

2. बिना पारिश्रमिक लिए औरतें घरों एवं घर से जुड़े बाहर के कार्य करती हैं। उनके द्वारा किए जाने वाले कार्यों के बारे में पता कीजिए और उन कार्यों के महत्त्व के बारे में

उत्तर-

वर्तन धोने का

कपड़ा धोने का

सफाई कार्य

महत्त्व

 3. ‘कैसे हैं गाँव के लोग, पढ़े लिखे लोग।’ कवि ने ऐसा क्यों कहा होगा ? लिखें।

उत्तर- कवि ने यहाँ आश्चर्य प्रकट किया है कि अपने को ज्ञानी, विज्ञानी कहने वाले लोग अंधविश्वासों को मानते हैं। वे डायन, भूत, प्रेत आदि में विश्वास करते हैं। ऐसा विश्वास तो अनपढ़, जाहिल एवं गँवई लोग करते हैं। पढ़े-लिखे लोग सामाजिक कुरीतियों का बहिष्कार एवं विरोध करते हैं। वे इसे नहीं मानते। पर अपने को ज्ञानी विज्ञानी कहना पसंद करने वाले लोग ही ऐसी कुरीतियों के पक्षधर हैं। यह कितनी बड़ी बिडम्बना है।

 

अनुमान और कल्पना

1. ‘महिलाओं द्वारा बाहर का कार्य करने में कोई बुराई नहीं है।’ आपके विचार से यह सही है या गलत, क्यों ?

उत्तर- महिलाओं द्वारा बाहर कार्य करने में कोई बुराई नहीं है। यह सही है। काम करना अच्छी बात है। काम करने से आय प्राप्त होती है। गरीबी एवं अशिक्षा मिटती अतः यह सही है।

 

2. किसी ऐसी घटना के बारे में लिखिए जिसमें किसी असहाय व्यक्ति को किसी ने परेशान किया हो और परेशान करने वाले को डॉट मिली हो ।

उत्तर – एक बार एक बस स्टैंड पर अंधा बैठा था। वहीं एक लड़की बैठी थी। अंधे की स्टिक गिर पड़ी। वह स्टिक उठाने के लिए टटोला तो लड़की ने उसपर छेड़ने का आरोप लगा दिया। पब्लिक ने उसे पीट दिया। जब पुलिस आई तब भीड़ भाग खड़ी हुई। जब पुलिस ने पूछा तो अंधे ने सही बात बताई। पुलिस ने उस लड़की को बहुत डाँटा। लड़की को भी अपनी गलती का एहसास हो गया था। वह दु:खी हुई एवं अंधे से माफी माँगने लगी।

3. समाज से तिरस्कृत / बहिष्कृत किसी महिला के लिए आप क्या-क्या करना चाहेंगे ? 

उत्तर- समाज से तिरस्कृत/बहिस्कृत किसी महिला के लिए हम निम्नांकित कार्य करना चाहेंगे-

(i) उसे आर्थिक मदद प्रदान करेंगे।

(ii) सामाजिक स्तर पर उसकी सुरक्षा का ध्यान रखेंगे।

(iii) सरकारी योजनाओं के बारे में पता कर उसका नामांकन कराएँगे।

(iv) उसके अच्छे जीवन स्तर के लिए व्यावहारिक शिक्षा प्रदान करा रोजगार की व्यवस्था कराएँगे।

(v) उसके बच्चों को पास के सरकारी विद्यालय या आँगनबाड़ी में नामांकण कराकर शिक्षित बनाएँगे।

Read more 

बड़े भाई साहब का प्रश्न उत्तर class 8th

अशोक का शस्त्र त्याग प्रश्न उत्तर class 8th