बड़े भाई साहब प्रश्न उत्तर class 10th ll Ncert Book Solution

तो दोस्तो आज के इस पोस्ट पर हम आपको क्लास 8th के बड़े भाई साहब प्रश्न उत्तर का जवाब देने वाले हैं इसलिए पोस्ट पर बने रहे तो चलिए शुरु करते हैं

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

बड़े भाई साहब प्रश्न उत्तर

बड़े भाई साहब प्रश्न उत्तर class 10th ll Ncert Book Solution

बड़े भाई साहब प्रश्न उत्तर में पाठ का Summary in hindi

इस बड़े भाई साहब प्रश्न उत्तर वाले पोस्ट में हिन्दी कथा सम्राट प्रेमचंद जी की जीवंत रचना है। इस कहानी में दो भाइयों के बीच की सोच का हृदयगामी वर्णन है। बड़ा भाई मेहनती है, पर असफल हो जाता है। छोटा भाई लापरवाहीपूर्वक पढ़ता है पर कक्षा में अब्वल आता है। बड़ा भाई छोटे को सदैव चरित्रगत बातों का भाषण पढ़ाते रहता है।

वस्तुतः यह कहानी रटंत शिक्षा प्रणाली पर किया गया एक व्यंग्य है। प्रेमचंद का मानना है कि पढ़ाई दिल से एवं आनंदपूर्वक करनी चाहिए, बोझ समझकर नहीं। शिक्षा की रटंत पद्धति में सबसे बड़ी खामी यह है कि इससे व्यक्तित्व का विकास नहीं हो पाता है। जीवन की समझ किताबी ज्ञान से नहीं जीवन अनुभव से प्राप्त होती है।

सिर्फ पढ़ लेने से ही अपने को बड़ा समझना भी मूर्खता है। घर के बड़े-बुजुर्गों को सम्मान देना भी पढ़ाई का ही आवश्यक अंग है। पढ़ा-लिखा वर्ग घमंडी हो है जो आज की अपूर्ण शिक्षा का भयानक दोष है। अतः शिक्षित लोगों को अपने बड़ों का सम्मान करना चाहिए।अब चलिए जानते हैं बड़े भाई साहब प्रश्न उत्तर से संबंधित कुछ MCQ प्रश्न 

 

बड़े भाई साहब MCQ

(1) “मैं छोटा था” में छोटा कौन था?

(a) प्रेमचन्द

(c) रामचन्द्र

(b) शिवानी

(d) इनमें कोई नहीं

उत्तर (a)

 

(2) लेखक के बड़े भाई की उम्र क्या थी? 

(a) 10 वर्ष

(b) 18 वर्ष

(c) 14 वर्ष

(d) 20वर्ष

उत्तर-(c)

 

(3) वे स्वभाव से बड़े अध्ययनशील थे। इसमें अध्ययनशील किस प्रकार का शब्द है?

(a) संज्ञा

(b) सर्वनाम

(c) विशेषण

(d) अव्यय

उत्तर-(c

(4)’बड़े भाई साहब’ शीर्षक कहानी में लेखक के बड़े भाई ने लेखक के सामने पढ़ाई का कैसा चित्र खींचा?

(a) खुशनुमा

(b) आड़ा-तिरछा

(c) सीधा

(d) भयानक

उत्तर- (d)

 

(5) ‘बड़े भाई साहब’ शीर्षक पाठ के अनुसार ‘कनकौआ’ शब्द का अर्थ

(a) गिल्ली डंडा

(c) पतंग

(b) काला कौआ

(d) क्रिकेट

उत्तर-(c)

 

(6) ‘बड़े भाई साहब’ शीर्षक पाठ के रचयिता का नाम हैं 

(a) विश्वनाथ त्रिपाठी

(b) हरिशंकर परसाई

(c) जयशंकर प्रसाद

(d) प्रेमचन्द

(7) लेखक के बड़े भाई किस जमात में थे? 

(a) पाँचवीं

(b) नौवीं

(c) सातवीं

(d) इनमे से कोई नहीं

उत्तर- (b)

 

(8) किनकी रचनाओं को समझना छोटी मुँह और बड़ी बात थी? 

(a) लेखक की

(b) लेखक के बड़े भाई की

(c) लेखक के छोटे भाई की

(d) इनमें कोई नहीं

उत्तर-(b)

(9) ” बड़े भाई साहब” शीर्षक पाठ में लेखक के बड़े भाई ने परीक्षा में सफलता के लिए क्या किया?

(a) कड़ी मेहनत

(b) आराम

(c) खेलकूद

(d) व्यायाम

उत्तर- (a)

अब जानते हैं बड़े भाई साहब प्रश्न उत्तर में पाठ के प्रश्न उत्तर

पाठ के प्रश्न उत्तर

 

1.) लेखक के बड़े भाई अपने दिमाग को आराम देने के लिए क्या-क्या करते थे ?

उत्तर- लेखक के बड़े भाई अपने दिमाग को आराम देने के लिए कभी कॉपी पर कभी किताब के हाशिए पर चिड़ियों, कुत्तों, बिल्लियों की तस्वीरें बनाया करते थे। कभी-कभी एक ही नाम या शब्द या वाक्य दस-बीस बार लिख डालते थे। कभी-कभी एक शेर (कविता) को बार-बार सुंदर अक्षरों से नकल करते। कभी कोई ऐसी शब्द रचना करते जिसमें न कोई अर्थ होता था न सामंजस्य ।

 

2.) लेखक के भाई ने लेखक के सामने पढ़ाई का कैसम चित्र खींचा ?

उत्तर- लेखक के भाई ने लेखक के सामने पढ़ाई का अत्यंत गूढ़ एवं कठिनतम रूप प्रस्तुत किया। सभी विषयों के बारे में इनका एक अलग विचार था। जैसे अंग्रेजी पढ़ना खेल की बात नहीं है इतिहास में नाम और समय याद करना बूते की बात नहीं। गणित हल करना मुश्किल है। विज्ञान की समझ काफी कठिन है, आँखें फोड़नी पड़ती है, बैठना पड़ता है, खून जलाना पड़ता है तब जाकर विषय कहीं पल्ले पड़ता है कठिन मेहनत दिन-रात करनी पड़ती है तब जाकर पढ़ाई होती है।

3.) समझ, किताबें पढ़ने से नहीं आती, दुनियाँ देखने से आती हैं।’ इस कथन को किसी एक उदाहरण से सिद्ध करें। 

उत्तर -सच है कि समझ दुनियाँ देखने से आती है, किताब पढ़ने से नहीं। अगर किताबें पढ़ने से समझ आती तो लेखक का बड़ा भाई फेल क्यों हो जाता। वहीं लेखक कम रटता था पर उसे दुनियाँ की समझ थी, अतः वह पास हो जाया करता था। वह कक्षा में प्रथम स्थान प्राप्त कर लेता था।

 

4.) लेखक के बड़े भाई ने परीक्षा में सफलता के लिए क्या-क्या किया ? आप परीक्षा की तैयारी कैसे करते हैं ?

उत्तर- लेखक के बड़े भाई अध्ययनशील थे। वे हरदम किताबें खोलकर बैठे रहते थे। रटा करते रहते थे पर परीक्षा में पूछे गये प्रश्न का उत्तर नहीं लिख पाते थे।

 

मैं विषय की समझ पर जोर देता है। फॉर्मूला एवं नियम रट लेता हूँ पर अन्य को समझकर स्वयं लिखने का प्रयास करता हूँ। इससे पाठ याद भी हो जाता है एवं परीक्षा में लिखते समय आत्मविश्वास भी बना रहता है।

5.) ‘बुनियाद ही पुख्ता न हो, तो मकान कैसे पाएदार बनें !’ इस पंक्ति का भाव स्पष्ट करें।

उत्तर- सच्चाई है उपर्युक्त बातों में यदि नींव कमजोर रहेगी तो भवन | कमजोर बनेगा। यह भरभराकर गिर जाएगा। उसी तरह जिस विद्यार्थी की पढ़ाई शुरूआत में अच्छी नहीं होगी आगे जाकर वह कमजोर रहेगा। अतः आवश्यकता है कि पढ़ाई एवं भवन की नींव अर्थात् शुरूआत ठोस एवं मजबूत निर्माण की जाए। तभी वह छात्र एवं भवन मजबूत रहेगा। अन्यथा हल्के आघात में भवन गिर जाएगा एवं हल्की मुसीबत में वह व्यक्ति घबरा जाएगा।

अब समय आ गया है बड़े भाई साहब प्रश्न उत्तर में कुछ और प्रश्न उत्तर को जानने का

बड़े भाई साहब प्रश्न उत्तर Extra Questions

1) हमेशा किताब खोलकर बैठे रहने के बावजूद लेखक के बड़े भाई सालाना इम्तिहान में फेल हो जाते हैं, जबकि लेखक अब्बल दर्जे से उतीर्ण हो जाता है। आपकी समझ में ऐसा क्यों हुआ?

उत्तर- हमारी समझ में लेखक के बड़े भाई सिर्फ पाठ रहते हैं। इसलिए परीक्षा भवन में रटा पाठ भूल जाते हैं और लिख नहीं पाते हैं। वहीं लेखक पाठ की विषय वस्तु को समझता है। इसलिए वह हर प्रश्न के संदर्भ को समझता है। परीक्षा में वह हर प्रश्न का सटीक उत्तर दे देता है इसलिए वह पास हो जाता है।

 

लेखक के बड़े भाई को भी रटंत प्रणाली त्याग कर विषय वस्तु की गहराई को समझने में ध्यान देना चाहिए था।

 

2.) लेखक और उसके भाई में से कौन आपको बेहतर लगता है। कारण देते हुए बताइए।

उत्तर- लेखक का बड़ा भाई मेहनती, कर्त्तव्यवान एवं अपनी जिम्मेवारी समझने वाला व्यक्ति है। उसे अपने भाई के भविष्य की चिंता है। अतः वह भाई को डाँटता है, समझाता है।

 

लेखक बाल मति है। भाई के इस निश्छल प्रेम को अभी नहीं समझ पा रहा है। किन्तु उसके भलाई के लिए ही भैया उसकी खिंचाई करता है। हमें लेखक का बड़ा भाई ही बेहतर लगता है।

3.) किन कारणों से किसी विद्यार्थी को पढ़ाई करने से भय लग सकता है ?

उत्तर- निम्नांकित कारणों से किसी विद्यार्थी को पढ़ाई करने से भय लग सकता है-

 

(i) मास्टर साहब की पिटाई का डर।

(ii) पाठ न समझने से।

(iii) लापरवाही से पढ़ाई करने पर।

(iv) सिर्फ खेल-कूद में मन लगाने से।

 

4.) ‘पढ़ोगे लिखोगे बनोगे नबाव, खेलोगे कूदोगे बनोगे खराब’ – आप इस उक्ति से कितना सहमत हैं? क्या वर्तमान समय में यह सही है ?

 

उत्तर- हम उस उक्ति से सहमत नहीं हैं। वर्तमान समय में यह उक्ति सही नहीं है। सचिन तेंदुलकर ने क्रिकेट जगत में अपना नाम अमर कर लिया। साक्षी और कई खिलाड़ी आज विश्व में भारत का नाम रौशन कर रहे हैं। साइना नेहवाल, पी०वी० सिंधु, सानियाँ मिर्जा ने इस कहावत की सत्यता को पछाड़ दिया है। वर्तमान समय में खेल एवं पढ़ाई दोनों की आवश्यकता है। तभी व्यक्तित्व का समय एवं पूर्ण विकास संभव है।

 

5.) बड़े भाई की डाँट-डपट न मिलती तो क्या छोटा भाई अपनी कक्षा में अच्छा प्रदर्शन कर पाता। इस संबंध में अपने विचार लिखिए । 

उत्तर- बडे भाई की डाँट-डपट से ही छोटा भाई पढ़ाई के प्रति सावधान रहा। वर्ना वह तो खेल-खिलौने एवं पतंग के पीछे दीवाना रहता था। भाई की उलाहना एवं डॉट ने उसके अंदर की जिजीविषा बढ़ा दी। वह अपनी कक्षा में अब्बल आने लगा। अतः बड़े भाई का जागरूक रहना छोटे के लिए सही है।

 

6.) इस कहानी में बड़े भाई साहब ने जिंदगी के अनुभव को किताबी ज्ञान से ज्यादा महत्त्वपूर्ण माना है ? क्या उनका ऐसा मानना सही है? कारण सहित अपने विचार लिखिए।

उत्तर- जिंदगी का अनुभव व्यक्ति को परिस्थितियों में धैर्य प्रदान करता है। धैर्य से हम परेशानियों पर विजय प्राप्त कर पाते हैं। अतः यह सही है कि किताबी ज्ञान विपरीत अवस्थाओं में साथ नहीं देती पर जिंदगी के अनुभव वहाँ काम आते हैं।

Read more….

मित्रता पाठ का प्रश्न उत्तर

छोटा जादूगर पाठ का प्रश्न उत्तर

पथ की पहचान पाठ का प्रश्न उत्तर