NCERT BOOK SOLUTION FOR CLASS 9 – ल्हासा की ओर

तो दोस्तों अगर आप भी गूगल पर ल्हासा की ओर के प्रश्न उत्तर ढूंढ रहे हैं तो आप बिलकुल ही सही पोस्ट पर आ चुके हैं जहा हमने इसी का जवाब दीया हैं तो चलिए शुरु करते हैं….

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

ल्हासा की ओर

NCERT BOOK SOLUTION FOR CLASS 9 – ल्हासा की ओर

प्रश्न-अभ्यास

प्रश्न 1. थोडला के पहले के आखिरी गाँव पहुंचने पर भिखमंगे के वेश में होने के बावजू लेखक को ठहरने के लिए उचित स्थान मिला जबकि दूसरी यात्रा के समय भद्र वेश भी उन्हें उचित स्थान नहीं दिला सका। क्यों ?

उत्तर- लेखक का मानना है कि यह बहुत कुछ लोगों की उस समय की मनोवृत्ति पर निर्भर है। शाम के वक्त लोग मदिरा पिए होते हैं इसलिए बहुत कम लोगों के होश-हवाश ठिकाने होते हैं।

प्रश्न 2. उस समय के तिब्बत में हथियार का कानून न रहने के कारण यात्रियों को किस प्रकार का भय बना रहता था ?

उत्तर- हथियार का कानून न रहने के कारण किसी के भी पास बंदूक या पिस्तौल हो सकती थी एकांत सूने स्थानों से गुजरते हुए हत्या का भय बना रहता था।

प्रश्न 3. लेखक लङकोर के मार्ग में अपने साथियों से किस कारण पिछड़ गया ?

उत्तर- लेखक का घोड़ा धीमा चलने लगा। वह धीरे-धीरे बहुत पिछड़ गया। एक जगह जहाँ दो रास्त फूट रहे थे. उसने गलत रास्ता चुन लिया। इसी कारण वह लड़कोर के मार्ग में अपने साथियों से पिछड़ गया।

प्रश्न 4. लेखक ने शेकर बिहार में सुमति को उनके यजमानों के पास जाने से रोका, परंतु दूसरी बार रोकने का प्रयास क्यों नहीं किया ?

उत्तर- लेखक का साथी सुमति रास्ते के आस-पास के गाँवों के अपने यजमानों को गंडे और ताबीज बाँटता जाता था। इसमें काफी समय लग जाता था। इस कारण लेखक ने उसके शेकर विहार पहुँचने पर सुमति को उसके यजमानों के पास जाने से रोका।

परंतु दूसरी बार वहाँ जाने पर उन्हें वहाँ एक अच्छे मंदिर में कन्जुर की 103 हस्तलिखित पोथियाँ मिल गई: अब लेखक पुस्तकों में व्यस्त था. इसलिए उसने सुमति को उसके यजमानों के पास जाने से नहीं रोका।

5. अपनी यात्रा के दौरान लेखक को किन कठिनाइयों का सामना करना पड़ा ?

उत्तर : अपनी यात्रा के दौरान लेखक को बीहड़ स्थानों से गुजरना पड़ा। 16-17 हजार फीट ऊँच पर्वतों को लाँघना पड़ा।

उसे ऐसे स्थानों से होकर जाना पड़ा जहाँ डाकू लोगों का खून कर देते थे तिब्बत के विचित्र मौसम को झेलना पड़ा। प्रायः अपना सामान पीठ पर लादकर बीहड़ों में पैदल यात्रा करनी पड़ी।

प्रश्न 6. प्रस्तुत यात्रा-वृत्तांत के आधार पर बताइए कि उस समय का तिब्बती समाज कैसा था ?

उत्तर- ‘ल्हासा की ओर’ यात्रा-वृत्तांत के आधार हमें उस समय के तिब्बती समाज का पता चलता है कि वहाँ सभ्य एवं समर्पित समाज था।

जाति-पाँति, छुआछूत जैसी सामाजिक बुराइयाँ नहीं थी। औरतो के लिए परदा करने जैसा बंधन भी नहीं था। औरतों तक में विश्वास और आतिथ्य-प्रेम का भाव था। सर्वधा अपरिचित व्यक्ति को भी खाने-पीने की वस्तुएँ बनाकर दे दी जाती थी। कानून व्यवस्था न होने के कारण लोग खुलेआम हथियार लेकर घूमते थे और किसी का खून करने तक में नहीं हिचकते थे।

समाज में अन्धविश्वास व्याप्त था इसीलिए लोग भिक्षुओं और उनके द्वारा बनाए गए गड़ों को पाना चाहते थे। जागीरदारी प्रथा थी। जागीरदार स्वयं खेती करते थे। रोजगार न होने के कारण मजदूर भी सस्ते मिल जाते थे। समाज में आपसी मेल की भावना थी।

प्रश्न 7. मैं अब पुस्तकों के भीतर था।’ नीचे दिए गए विकल्पों में से कौन सा इस वाक्य का अर्थ बतलाता है-

(क) लेखक पुस्तकें पढ़ने में रम गया।

(ख) लेखक पुस्तकों की शैल्फ के भीतर चला गया।

(ग) लेखक के चारों ओर पुस्तकें ही थीं।

(घ) पुस्तक में लेखक का परिचय और चित्र छपा था।

उत्तर- (क)

रचना और अभिव्यक्ति

प्रश्न 8. सुमति के यजमान और अन्य परिचित लोग लगभग हर गाँव में मिले। इस आधार पर आप सुमति के व्यक्तित्व की किन विशेषताओं का चित्रण कर सकते हैं?

उत्तर : सुमति कि निम्न विशेषता इस प्रकार है ।

i)वह हसमुख व्यक्ति था

ii)सुमति बोध गया से लाए कपडे के गंडे बनाकर अपने यजमानो को दिया करते थे

iii)वह बौद्ध धर्म का परम भक्त था

 

प्रश्न 9. हालांकि उस वक्त मेरा भेष ऐसा नहीं था कि उन्हें कुछ भी खयाल करना चाहिए था।’ उक्त कथन के अनुसार हमारे आचार-व्यवहार के तरीके वेशभूषा के आधार पर तय होते है। आपकी समझ से यह उचित है अथवा अनुचित, विचार व्यक्त करें।

उत्तर : यहाँ तक तो पुरा सच है कि हम अच्छ पहनावे वाले को अपनाते है और गन्दे पहनावे वाले को नकारते है

लेकिन लेखक तो भिखमंगे के वेश मे यात्रा कर रहा था इसलिए उसे उम्मीद नहीं थी कि शेकर बिहार का भिक्षु उसे सम्मानपूर्वक अपनाएंगे। हमारी समझ मे वेशभूषा के आधार पर किसी मे भेदभाव करना उचित नही है

प्रश्न 10. यात्रा-वृत्तांत के आधार पर तिब्बत की भौगोलिक स्थिति का शब्द-चित्र प्रस्तुत करें। वहाँ की स्थिति आपके राज्य/शहर से किस प्रकार भिन्न है ?

उत्तर :इस पूरी यात्रा से लगता है कि, तिब्बत ,भारत और नेपाल के जैसा ही है जोकि समुद्रतल से काफी ऊपर है जहाँ एक तरफ हजारों बर्फ से ढके खेत पहाड़ है तो वही दूसरी ओर भीटे है यहाँ कि जलवायु मे सूर्य कि चलने से माथा जलता है लेकिन कंधा और पीठ को बरफ की तरह ठंडा – मिलता है। जोकि हमारे शहर से काफी अलग है

People also read…..

किस तरह आखिरकार मैं हिंदी में आया

माटी वाली 

प्रश्न 11. आपने भी किसी स्थान की यात्रा अवश्य की होगी ? यात्रा के दौरान हुए अनुभवों को लिखकर प्रस्तुत करें।

उत्तर : खुद से लिखे

प्रश्न 12. यात्रा-वृत्तांत गद्य साहित्य की एक विधा है। आपकी इस पाठ्यपुस्तक में कौन-कौन सी विधाएँ। हैं? प्रस्तुत विधा उनसे किन मायनों में अलग है ?

उत्तर :हमारे पाठ्यपुस्तक की विधाएँ इस प्रकार है दो बैलों की कथा ,ल्हासा की ओर, उपभोक्तावाद की संस्कृति, साँवले सपनों की याद, नाना साहब की पुत्री देवी मैना को भस्म कर दिया गया,प्रमचंद के फटे जूते, मेरे बचपन के दिन, एक कुता और एक मना

यह पाठ अलग इसलिए है क्योंकि इसमे यात्रा का वर्णन है

भाषा अध्ययन

प्रश्न 13. किसी भी बात को अनेक प्रकार से कहा जा सकता है, जैसे-सुबह होने से पहले हम गाँव में थे। पौ फटने वाली थी कि हम गाँव में थे। तारों की छाँव रहते-रहते हम गाँव पहुँच गए। नीचे दिए गए वाक्य को अलग-अलग तरीके से लिखिए-

जान नहीं पड़ता था कि घोड़ा आगे जा रहा है या पीछे!

उतर : i) पता नही चलता था कि घोड़ा पिछे जा रहा है, कि आगे

ii)कभी जान पड़ता था घोड़ा पीछे जा रहा है तो कभी जान पड़ता था कि घोडा आगे जा रहा है।

14. ऐसे शब्द जो किसी ‘अंचल’ यानी क्षेत्र विशेष में प्रयुक्त होते हैं उन्हें आंचलिक शब्द कहा जाता है। प्रस्तुत पाठ में से आंचलिक शब्द ढूँढकर लिखिए।

उत्तर : कंजूस, भरिति, खोटी आदि ।

15. पाठ में कामत, अक्षर, मैदान के आगे क्रमश: मोटे, अच्छे और विशाल शब्दों का प्रयोग हुआ है। इन शब्दों से उनकी विशेषता उभर कर आती है। पाठ में से कुछ ऐसे ही और शब्द छांटिए जो किसी की विशेषता बता रहे हो।

उत्तर : आखिरी, सारा, मुख्य, रंग -बिरंगे, गरमागरम, विशाल इत्यादि।

FAQ :

1.)ल्हासा कि ओर पाठ मे लेखक ने किसका वर्णन किया है?

उत्तर: तिब्बत की यात्रा मे पड़ने वाले कठिन रास्तों का

2.)ल्हासा कि ओर पाठ मे नाम से कौन था?

उत्तरः राहुल

3) सुमित कौन था Class 9 ?

उत्तर :एक बौद्ध धर्म को मानने बाला भिक्षुक था

4.)ल्हासा कि ओर, पाठ में लेखक को भिखमंगे के वंश में यात्रा क्यों करनी पड़ी।

उत्तर : क्योकि उस समय भारतीय को तिब्बत जाने कि अनुमति नहीं थी

Read more….

रीढ़ की हड्डी

मेरे संग की औरतें