स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध 500 शब्दो में

तो आज इस पोस्ट पर हम स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध बताएं है जिसे जानने के बाद आपको भी सफाई के प्रती एक अलग ही प्रकार का जिम्मेवारी महसूस होगा तो चलिए शुरु करते हैं….

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध 500 शब्दो में

प्रस्तावना

हमारे देश भारत को किसी जमाने में विश्वगुरु, सोने कि चिड़िया जैसे नामों से जाना जाता था हमारी संस्कृति, परंपरा और वैभव संपूर्ण विश्व में प्रख्यात था लेकिन समय के साथ हमारे इस महान देश मे कई बाहरी ताकता ने राज किया और हालत खराब कर दी किसी ने भी यहाँ कि स्वच्छता पर स्थान नही दिया और हमारा देश गंदा होते चला गया अगर भारत देश के कोई भी कोने मे जाएंगे तो आपको कूड़ा- कचरा ज़रूर ही मिलेगा।

हमारे देश को प्रगति कि ओर न जाने का एक मुख्य कारण गंदगी भी है क्योंकि गंदगी के कारण अन्य देश के लोग हमारे यहाँ आना पसन्द नही करते हैं जिससे हमारे देश कि प्रख्याति बढ़ नही पाता हमारा भारत देश भी स्वच्छ हो इसके लिए कई महापुरुषो में सपना देखा था, परन्तु किसी कारणवश सफल नहीं हो सका।

आज के समय मे भी भारत में कुछ ही घरों में शौचालक कि व्यवस्था है ग्रामीण इलाको मे तो आज भी लोग शौच के लिए लोग खुले मे जाते है तो वहीं शहरी क्षेत्र मे शौचालक कि तो व्यवस्था है, परन्तु कारखानों से निकलने वाली कचरे और अन्य-चीजों के कारण पुरा शहर गंदगी मे मिला रहता है।

 

स्वच्छ भारत अभियान का परिचय

स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध लिखते समय हमे स्वच्छ भारत अभियान का पता चला, जोकि भारतीय सरकार के द्वारा शुरू किया गया जिसके तरह भारत के सभी देशवासियो को इस योजना में शामिल किया गया।

वैसे तो इस योजना को अधिकारिक रूप से 1999 मे चलाया गया था और पहले इसका नाम ग्रामीण स्वच्छता था, लेकिन बाद मे 1 अप्रैल 2012 को माननीय प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के द्वारा इस योजना मे बदलाव करके निर्मल भारत कर दिया गया। बाद मे सरकार ने इसे पुन: गठित करते हुए इसका नाम पूर्ण स्वच्छता अभियान किया।

लेकिन स्वच्छ भारत अभियान के रूप मे 24 सितंबर 2014 को केन्द्रिय मंत्रिमंडल से इसको पारित कर दिया गया। जिसका मुख्य उद्देश्य भारत को स्वच्छ बनाया है।

 

स्वच्छ भारत अभियान कि शुरुआत

इस योजना का शुरुआत यशस्ती माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के द्वारा महात्मा गाँधी जी के 145वी जयंती के शुभअवसर पर 2 अक्टूबर 2014 को किया गया था इन्होने अपने देश को स्वच्छ बनाने और महात्मा गांधी जी के सपनो को पुरा करने के लिए राजपथ से राष्ट्रवादियों को इस भोजना मे भाग लेकर स्वच्छ बनाने को कहा। क्योंकि वे जानते थे कि यह योजना बहुत ही महत्वपूर्ण है क्योंकि इससे राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी जी का सपना

पुरा होगा। साथ ही मोदी जी ने खुद इसकी जागरुकता को फैलाने के लिए दिल्ली के वाल्मीकि बस्ती के सड़को पर झाडू लगाई थी, जिससे कि देश के लोगो मे इसका अच्छा संदेश जाए और जगरूप हो सकें।

 

महात्मा गांधी जी का सपना जुड़ा है स्वच्छ भारत से

हमारे देश के राष्ट्रपिता महात्मा जी का कहना था कि स्वच्छता स्वतंत्रता से भी जरूरी है क्योंकि स्वच्छता ही एक स्वस्थ और शांतिपूर्ण जीवन का आधार है। महात्मा गाँधी ने भारतवर्ष को स्वच्छ और निर्मल बनाने का सपना देखा था राष्ट्रपिता अच्छे तरह से भारत के गरीबी और गंदिगी से परिचित थे इसलिए स्वच्छ भारत बनाने के लिए कई प्रयास किए थे

लेकिन दुर्गाभाग्यपुर्ण सफल ना हो सके। एक रिपोर्ट कि माने तो अभी भी सभी के घरों में शौचालय नहीं है इसलिए भारत सरकार ने बापू के सोच को हकीकत में बदलने के लिए सभी नागरिको को स्वच्छ भारत मिशन में जुड़ने के लिए आग्रह किया है और इसे महात्मा गांधी जी के 150वी जयंती तक पूरा करने का लक्ष्य रखा है जिसगे सभी लोगों को अपने आस पास मे कम से कम एक साल मे 100 घंटे सफाई पर देने को कहा है।

 

स्वच्छ भारत अभियान का उद्देश्य

इस योजना को पुरा करने के लिए पाँच साल का निर्धारित समय रखा गया है उस योजना का उद्देश्य इस तरह है। भारत के कौनो कोना से गंदगी को दूर करना

•लोगो को खुले मैं शौच करने से रोकना, देश के हरेक शहर गाँव, मे शौचालय का निर्माण करवाना

•हरेक गांव मे कम से कम एक कचरा पात्र बनवाना

•लोगो कि मानसिकता को परिवर्तन करना – 2019 तक सभी के घरो मे पानी का प्रबंध करवाना

•सड़के बस्तियां और फुटपात को साफ रखना

•स्वच्छ भारत अभियान के बारे मे लोगो को प्रोत्साहित करना।

 

स्वच्छ भारत अभियान की आवश्कता 

स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध, लिखते हुए हमे मालूम चला कि इस अभियान को शुरू करने के पिछे क्या कारण है

•हमारे देश का हर शहर, हर मोहल्ला ,हर गांव कूड़ा-कचरा और गंदगी से भरा है उसे गंदगी से आजाद कराने के लिए ।

•हमारे देश में बीमारीयो का फैलने का एक मुख्य कारण खुले में शौच करना हैं क्योंकि आज भी देश के अधिकतर घरो मे शौचालय नहीं है

•कई तालाब, नदी, नालो मे भी कचरो की अंबार लगा है उसे दूर करने के लिए स्वच्छ भारत अभियान को शुरू किया गया।

•भारतवर्ष को स्वच्छ बनाने के लिए और स्वच्छ बनाकर वहाँ रहने वाले मांगों को वैश्विक स्तर पर आगे करना

•ग्रामीण इलाको मे जीवन कि गुणवत्ता को बेहतर बनाने के लिए।

 

देश को स्वच्छ न होने का कारण

हमारे देश भारत को स्वच्छ न होने के अनेको कारण है जिनमे कुछ कारण इस प्रकार है

•खराब मानसिकता

हमारे देश में कई ऐसे भी मानसिकता के लोग है जिनका मानना है कि हमारे थोडा गंदगी फैलाने से देश पुरा गंदा नहीं हो जाएगा और इसी सोच से थोड़ा-थोड़ा कर बहुत बड़ा क्षेत्र में गंदगी फैला देते है

•शिक्षा का अभाव

हमारे देश में कई लोग अभी भी अशिक्षित है और वे अनजाने मे वातावरण को प्रदूषित करते रहते हैं इसलिए अस्वच्छता का एक प्रमुख कारण अशिक्षा भी है

•शौचालय का  न होना

शौचालय न होना ये सभी कारणो मे से एक प्रमुख कारण है अस्वच्छता का।

स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध 500 शब्दों में

भारत सरकार द्वारा चलाया गया यह योजना सभी योजना मे को से काफी ज्यादा महत्वपूर्ण है क्योंकि इस योजना कि जरूरत केवल हमारे वातावरण को स्वच्छ करने से उद्देश्य से शुरू किया गया है और कितनी ही सरमिंदगी 

कि बात है कि, हम इंसान अपना घर तो साफ रखते है परंतु उनसे निकलने वाली सारी गन्दगी, कूड़ा कचरा सबों को सड़को और चौराहो पर फेंक देते है ये कभी भी नही सोचते कि इसे हमारा देश ही गन्दा होता है। इसे साफ करने कोई पड़ोसी या बाहरी नही आएगा

 

इस योजना का शुभारम्भ

इस योजना का शुभारम्भ माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने महात्मा गांधी जी के जयंती के उपलक्ष्य मे 2 अक्टूबर 2014 को शुरू किया था जिसमें भारत को स्वच्छ बनाने की मुहिम शुरू कि थी क्योंकि भारत को स्वच्छ देखना महात्मा गांधी था स्वच्छ भारत के द्वारा विशेषकरशेषकर ग्रामीणों लोगों के अंदर जागरुकपता पैदा करना चाहते कि शौचालयों का प्रयोग करें, खुले में ना करें इत्यादि

 

हस्तियों का साथ

प्रधानमंत्री के इस योजना को साकार बनाने के लिए भारत के कुछ महान हस्तियों ने अपना सहयोग दिया जिनका नाम इस प्रकार है

•सचिन तेंदूलकर

•बाबा रामदेव

•महेन्द्र सिंह धोनी

•प्रियंका चोपडा

•सलमान खान

•कमल हसन

•विराट कोहली

•तारक मेहता का उल्टा चश्मा की पूरी टीम

People also read 

जल जीवन मिशन

सावित्रीबाई फूले योजना 

निष्कर्ष

इस योजना को महात्मा गाँधी जी के 145वीं जयंती पर शुरू किया गया था जो 5 वर्षो मे पूरा हो चुका है अब हमारा जिम्मेदारी बनता है कि इस भारतवर्ष को और भी स्वच्छ बनाने के लिए इसमे जोरो सोश से लगे

 

स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध 250 शब्दो में

इसकी कल्पना तो आजादी से पहले ही महात्मा गाँधी जी ने देखी थी जिसकी शुरुआत को आधिकारिक रूप से 1999 को माना जाता है

जब भारत सरकार ने ग्रामीण स्वच्छता और पुर्ण स्वच्छता के लिए आयोग गठित किए थे जिसे बाद मे प्रधानमंत्री श्री मनमोहन सिंह जी ने 2012 मे सहमति देकर इस योजना का नाम बदलकर निर्मल भारत अभियान” कर दिया था सरकारी आकडो कि बात कि जाए तो अभि तक लगभग 10,19,64,752 घरों में शौचालय कि व्यवस्था कराई जा चुकी है

गांधी जी का चश्मा इस अभियान का प्रतीक है जिसे भारत सरकार द्वारा जल शक्ति मंत्रालय के अधीन पेयजल एवं स्वच्छता विभाग को सौपा गया है। इस योजना को साकार बनाने के लिए मोदी जी ने पूरे देश से अपील कि थी कि ज्यादा ज्यादा से ज्यादा लोग इस मुहिम मे जुड़कर अपना योगदान दे। और देश ने इनकी बात मानी और साथ मे देश के कुछ महान सेलिब्रेटी भी इस योजना मे भाग लेकर इसको साकार बनाने मे सहयोग किया और लोगो को भी प्रोत्साहित किए।

एक बार स्वंय पीएम श्री नरेंद्र मोदी जी ने झाड़ू लेकर वाराणसी के गंगा तट के अस्सी घाट पर सफाई की थी और महात्मा गाँधी जी कि यह बात भी स्वच्छता पर लागू होती है कि अगर हम समाज मे बदलाव देखना चाहते है तो सबसे पहले खुद मे बदलाव लाना होगा। सफाई करने के लिए हर कोई दूसरा का राह देखता है ऐसा नही करना चाहिए सबसे पहले खुद हमे ही पहल करना चाहिए

 

स्वच्छ भारत कर अभियान पर निबंध 120 शब्दां में

यह कैसा समय आ चुका है कि हमारे घर, परिवार ,समाज को साफ करने के लिए सरकार को योजनाए की चलानी पड़ रही है आज हमारे यहाँ के लोग भी गजब किस्म के है क्योकि उन्हें खुद के काम को करने के लिए सरकार की राह देखनी पड़ती है आज हम आपनी निजी काम को करने के लिए दूसरो पर निर्भर होना पड़ताहैं

लेकिन अब हमे इस आदत को बदलना होगा यह न केवल हमारे लिए बल्कि, समूचे भारतवासीयो के लिए। इसी बात को ध्यान मे रखकर इस योजना को शुरु किया गया जिसका नाम स्वच्छ भारत अभियान है जिसमे देश के सभी लोगो को इस योजना मे भाग लेकर इसे पूरे तरह सफल बनाना है

स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध

स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध से सम्बन्धित कुछ और प्रश्न

FAQ:

(1) स्वच्छ भारत अभियान का मुख्य उद्देश्य क्या है?

उत्तर: भारत को स्वच्छ बनाना

(2) भारत मे स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत कब हुई?

उत्तर. 2 अक्टूबर 2014

(3) स्वच्छ भारत मिशन के अध्यक्ष कौन है

उत्तर : परमेश्वर अय्यर

(4) स्वच्छ भारत मिशन का अविष्कार किसने किया था

उत्तर : भारत के प्रधानमी नरेन्द्र मोदी

(5) स्वच्छ भारत अभियान का नारा क्या है?

उत्तर: स्वच्छता ही सेवा, गन्दगी जानलेवा

(6) स्वच्छ भारत मिशन चरण 2 कब शुरू हुआ?

उत्तर: 2 अक्टूबर 2022 में।

Read more….

कौशल विकास योजना

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना 

सारांश: तो दोस्तों इस स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध वाले पोस्ट पर हमने स्वच्छ भारत अभियान के बारे में पुरा बताया और मैं उम्मीद कर सकता हु की आप भी इस योजना में बढ़ चढ़ कर भाग लेंगे