Jharkhand Board Class 8 History Notes

Jharkhand Board Class 8 History Notes

सही विकल्प का चयन करें-

1. सती प्रथा को दूर करने का श्रेय किन्हें मिला ?

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

(a) लॉर्ड केनिंग

(b) लॉर्ड विलियम बेंटिक

(c) लॉर्ड कैनिंग

(d) लॉर्ड माउंटबेटन

उत्तर-(b)

2. हरविलास शारदा के प्रयास से 1929 ई. में शारदा कानून बना। शारदा कानून किससे संबंधित था ?

(a) लड़के-लड़कियों की शादी के लिए न्यूनतम उम्र से

(b) सती प्रथा से

(c) विधवा विवाह से

(d) शराब बंदी से

उत्तर- (a)

3. पहली बार दिल्ली के सिंहासन पर बैठने वाली महिला कौन थी ?

(a) इंदिरा गाँधी

(b) रजिया सुल्तान

(c) महारानी एलिजाबेथे

(d) रानी लक्ष्मी बाई

उत्तर-(b)

4. किस भारतीय समाज सुधारक के प्रयास से सती प्रथा का अंत किया गया ?

(a) स्वामी विवेकानंद

(b) दयानन्द सरस्वती

(c) राजा राममोहन राय

(d) ज्योतिबा राव फुले

उत्तर-(c)

5. सती प्रथा पर पहला प्रतिबंध किस राजा ने लगाया था ?

(a) हर्षवर्धन

(b) जयचन्द

(c) अशोक

(d) पुलकेशिन द्वितीय

उत्तर- (a)

6 . सती प्रथा का प्रथम प्रमाण किस अभिलेख से मिलता है ?

(a) इलाहाबाद

(b) अहमदनगर

(c) रांची

(d) एरण

उत्तर- (d)

7. हिन्दू विधवा पुनर्विवाह कानून कब पारित हुआ ?

(a) 1847 ई.

(b) 1857 ई

(c) 1856 ई

(d) 1865 ई..

उत्तर-(c)

8. सती प्रथा पर पूर्ण प्रतिबंध लगाया-

(a) लॉर्ड हेस्टिंग्स

(b) लार्ड विलियम बेंटिंक

(c) लॉर्ड डलहौजी

(d) लॉर्ड कैनिग

उत्तर-(b)

9. विधवा पुनर्विवाह कानून किसने लागू किया ?

(a) लॉर्ड वारेन हेस्टिंग्स

(b) लॉर्ड कैनिंग

(c) लॉर्ड डलहौजी

(d) लॉर्ड विलियम बैंटिक

10. किसके प्रयासों से 1872 ई. में देशी बाल-विवाह अधिनियम पारित हुआ ?

(a) राजाराम मोहन राय

(b) बंकिम चंद्र चटर्जी

(c) केशवचंद्र सेन

(d) स्वामी विवेकानंद

उत्तर-(c)

11. स्वामी दयानंद सरस्वती ने स्थापना की-

(a) प्रार्थना समाज

(b) आर्य समाज

(c) ब्रह्म समाज

(d) इनमें कोई नहीं

उत्तर-(b)

12. स्त्री शिक्षा के लिए कलकत्ता के तरुण स्त्री सभा की स्थापना कब हुई ?

(a) 1785 ई

(b) 1821 ई

(c) 1800 ई

(d) 1819 ई

उत्तर- (a)

13. बेगम रुकैया सखावत हुसैन ने मुस्लिम लड़कियों के लिए कहाँ-कहाँ विद्यालय खोले ?

(a) कलकत्ता और पटना

(b) चेन्नई और राँची

(c) मुम्बई और पुणे

(d) दिल्ली और लखनऊ

उत्तर- (a)

14 . भोपाल की बेगमों ने लड़कियों की शिक्षा के लिए विद्यालय कहाँ खोली ?

(a) अलीगढ़

(b) भोपाल

(c) इलाहाबाद

(d) बनारस

उत्तर- (a)

15. ‘स्त्री-पुरुष तुलना’ नामक पुस्तक किसने लिखी ?

(a) महादेवी वर्मा

(b) राश सुंदरी देवी

(c) ताराबाई शिंदे

(d) प्रभावती देवी पढ़ना-लिखना सीखा ?

उत्तर-(c)

16. किसने दीये की रोशनी में

(a) यशविहारी देवी

(b) महादेवी वर्मा

(c) राश सुंदरी देवी

(d) राम सुंदरी देवी

उत्तर-(c)

Jharkhand Board Class 8 History Notes

Jharkhand Board Class 8 History Notes  Overview

विषय सामाजिक विज्ञान
कक्षा 8
पाठ 8
बोर्ड झारखंड बोर्ड

Jharkhand Board Class 8 History Notes का अभ्यास

प्रश्न 1. रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए-

(क) सत्ती प्रथा का प्रथम प्रमाण…अभिलेख से मिलता है।

(ख) विधवा पुनर्विवाह के लिए…ने काफी मेहनत की।

(ग) भारतीय महिलाओं का विश्वविद्यालयों में प्रवेश….दशक में हुआ। के

(घ) भोपाल की बेगमों ने….के लिए विद्यालय खोले। में लड़कियों की शिक्षा

(ङ)….ने रात में दिये की रोशनी में लिखना पढ़ना सीखा।

उत्तर-(क) एरण

(ख) ईश्वरचन्द्र विद्यासागर

(ग) 1880

(घ) अलीगढ़

(ङ) राम सुन्दरी देवी

 

प्रश्न 2. निम्न प्रश्नों के उत्तर संक्षेप में दीजिए-

(क) बिलियम बैंटिक से पहले सती प्रथा पर रोक के लिए किन लोगों ने प्रयास किये ?

उत्तर – विलियम बैंटिक से पहले सती प्रथा पर रोक लगाने के लिए हर्षवर्धन, मुगल शासक अकबर, पेशवा, लॉर्ड कार्नवालिस एवं लार्ड वाल हेस्टिंग्स ने भी प्रयास किये थे, जिन्हें सफलता नहीं मिली।

(ख) ज्योतिबा फूले कौन थे ?

उत्तर- ज्योतिबा फूले महाराष्ट्र के प्रमुख समाज सुधारक थे। उन्होंने स्त्री शिक्षा, महिला कल्याण, जाति प्रथा उन्मूलन पर जोर दिया था। इन्होंने दलितों और स्त्रियों के उद्धार के लिए अपना सम्पूर्ण जीवन अर्पित कर दिया।

 

(ग) 19वीं शताब्दी में लोग लड़कियों को स्कूल कर रहे थे ? जाने से क्यों मना

उत्तर-19वीं शताब्दी में लोग लड़कियों को स्कूल जाने से मना कर रहे थे, क्योंकि उनकी धारणा थी कि यदि लड़कियों स्कूल जाने लगेंगी तो वह घरेलू काम-काज पर ध्यान नहीं देगी। सार्वजनिक स्थलों से होकर गुजरने से वह बिगड़ जाएँगी।

 

(घ) केशवचन्द्र सेन ने बाल विवाह रोकने के लिए क्या प्रयास किये ?

उत्तर- केशवचन्द्र सेन के प्रयासों से 1872 ई० में देशी बाल-विवाह अधिनियम पारित हुआ, जिसमें बाल-विवाह पर प्रतिबंध लगाने की व्यवस्था की गयी थी।

प्रश्न 3. सती-प्रथा पर रोक लगाने के लिए राजा राममोहन राय ने क्या प्रयास किये ?

उत्तर- राजा राममोहन राय महिलाओं के लिए ज्यादा स्वतंत्रता व समानता के पक्षधर थे। वे इस बात से दुःखी थे कि विधवा औरतों को अपनी जिंदगी में भारी कष्टों का सामना करना पड़ता था।

उन्होंने शास्त्रों का सहारा लेकर यह समझाने की कोशिश की कि धर्मशास्त्रों में भी सती प्रथा का विरोध किया गया था। उन्होंने स्त्रियों के प्रति मानवता और दया की भावना उभारने का प्रयास किया। उन्होंने विलियम बेंटिक को प्रेरित किया कि वह इस प्रथा को दूर करने के लिए अपना पूर्ण समर्थन दें। उनके ही अथक प्रयास से सती प्रथा उन्मूलन अधिनियम विलियम बेंटिक द्वारा 1829 ई० में पारित किया गया।

 

प्रश्न 4. ईश्वर चन्द्र विद्यासागर ने विधवा विवाह का समर्थन क्यों किया ? उन्होंने स्वयं क्या आदर्श प्रस्तुत किये ?

उत्तर- ईश्वरचन्द्र विद्यासागर ने विधवा पुनर्विवाह के लिए उल्लेखनीय कार्य किये। उन्होंने प्राचीन ग्रंथों का हवाला देकर विधवा पुनर्विवाह का समर्थन किया। उन्होंने यह प्रमाणित करने का प्रयास किया कि वेदों में भी विधवा विवाह को मान्यता दी गयी है। उन्होंने अपने पुत्र की शादी भी एक विधवा से करवाकर समाज के सामने आदर्श प्रस्तुत किया।

 

प्रश्न 5. प्राचीन काल में महिलाओं की सामाजिक स्थिति कैसी थी ?

उत्तर- प्राचीन काल महिलाओं की सामाजिक स्थिति काफी बेहतर थी। हड़प्पा सभ्यता के काल में समाज मातृसत्तात्मक था। ऋग्वैदिक काल में भी स्त्रियों की स्थिति सम्मानजनक थी। वे अपने पति के साथ यज्ञ कार्यों में सम्मिलित होती एवं दान किया करती थीं। वे शिक्षा ग्रहण करती थी। ऋग्वैदिक काल में लोपामुद्रा, घोषा, सिकता, अपाला जैसी विदुषी स्त्रियों का जिक्र मिलता है। स्त्रियों को पिता की सम्पत्ति में हिस्सा का हक दिया गया था। सामान्यतः समाज में एक पत्नी प्रथा का ही प्रचलन था।

इन्हे भी पढे 

jharkhand board class 8 history chapter 6

jharkhand board class 8 history chapter 5

jharkhand board class 8 history chapter 4